Successive escapes of Vijay Mallya, Lalit Modi, Nirav Modi, Mehul Choksi and now Chinese national Wo

Successive escapes of Vijay Mallya, Lalit Modi, Nirav Modi, Mehul Choksi and now Chinese national Wo

Share with
Views : 1329

#Metronewzlive: Successive escapes of Vijay Mallya, Lalit Modi, Nirav Modi, Mehul Choksi and now Chinese national Woo Uyanbe prove that Modi Govt is not a guardian of ‘Public Money’ but a ‘Travel Agency’ facilitating ‘Fraud, Fleece & Fly to Foreign Shores’!- Highlights of press briefing by Shri Pawan Khera https://www.youtube.com/watch?v=GjDrHJNi6gg Highlights of Press Briefing 18 Aug, 2023 Shri Pawan Khera, Chairman, Media & Publicity (Communication Deptt), AICC addressed the media at AICC Hdqrs, today. श्री पवन खेड़ा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा- नमस्‍कार दोस्‍तों। इतिहास में कुछ महान नेताओं के नारे अमर हो जाते हैं। जय जवान, जय किसान – शास्‍त्री जी ने कहा था। तुम मुझे खून दो, मैं तुम्‍हें आजादी दूंगा – नेताजी ने कहा था, लेकिन कुछ निकम्‍मे नेताओं के भी नारे अमर होते हैं, मैं नाम नहीं लूंगा। एक निकम्‍मे नेता ने कहा – न हमारी सीमा में कोई घुसा हुआ है, न कोई आया, ये भी अमर हो गया नारा। जब गलवान में चीनी सेना, हमारी पोस्‍ट पर कब्‍जा करने आई, तब ये सफेद झूठ इस देश के सामने परोसा गया और ये अमर हो गया, लेकिन ये चीनी घुसपैठ सिर्फ बॉर्डर तक हो, वहीं तक सीमित रहे, ऐसा नहीं है। अब वो गुजरात तक पहुंच गई है, वो ऐसा राज्‍य, जहां से प्रधानमंत्री खुद आते है, जहां से गृह मंत्री खुद आते हैं, उस राज्‍य में चीन की घुसपैठ कैसे हुई है, आप स्‍क्रीन पर देख पा रहे हैं, न केवल घुसपैठ हुई.... ये व्‍यक्ति, पाकिस्‍तान से सटे हुए दो जिले बनासकांठा और पाटन, वहां बैठकर, 9 दिन में 1,400 करोड़ रुपए की चपत लगाकर गायब हो गया। देखिए लोगों की शिकायतें, 2022 की शिकायतें आपको स्‍क्रीन पर दिखेंगी (शिकायतों संबंधी स्क्रीन शॉट्स दिखाए गए)। जो इसके विकटिम थे, जो शिकार थे, इस स्‍कैम के, भोले-भाले लोग, गुजरात के 1,200 लोग इसके शिकार बने और ये व्‍यक्ति… आप सोचिए कितना संवेदनशील इलाका है, गुजरात के ये जिले, जो पाकिस्‍तान से सटे हुए हैं, वहां एक चीन का व्‍यक्ति आता है और ये उस दौरान आता है, जब प्रधानमंत्री महीने में एक या दो या तीन या चार बार गुजरात प्रचार करने जा रहे थे चुनाव में, उस दौरान ये स्‍कैम भी हो रहा था। पुलिस व्‍यस्‍त थी या पुलिस किसी दबाव में थी, ये क्‍या चल रहा था, इसका उत्तर आप लोग ही ढूंढेगे, हम भी ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन कुछ तो चल रहा था। अक्‍सर सुनाई देता है कि भाई एक चौकीदार है, वो चौकीदारी कर रहा है देश की, उसके दोस्‍त कुछ हैं, उनमें से कुछ गुजरात के भी, कुछ बाहर के भी सहयोगी के साथ मिलकर, देश का पैसा लेकर बाहर चले गए थे, ये तो सुना है। देश के बाहर से एक व्‍यक्ति आता है, और माफ कीजिएगा दुश्‍मन देश का एक व्‍यक्ति आता है, हमारे देश के 1,400 करोड़ रुपए लूटकर चला जाता है, कुछ मीडिया रिपोर्टस कहती हैं कि कुल मिलाकर नुकसान 4,600 करोड़ का है, क्‍योंकि और राज्‍यों में भी ये डेनी डेटा नाम की जो ऐप थी और इस ऐप को प्रचारित कौन कर रहा है, आप स्‍क्रीन पर देख रहे हैं। पुलिस बेचारी अपनी तरफ से तो नहीं प्रचारित कर रही होगी, उनको भी कहीं से निर्देश हुए होंगे। पुलिस के जवान इस ऐप को प्रचारित करते हुए आपको इन चित्रों में दिख रहे हैं, तो ये इशारा कहां से हुआ? पुलिस एक ऐप को, जो कि एक चीनी व्‍यक्ति द्वारा बनाई ऐप है Why is the police advertising an app made up by a shady dubious Chinese national? How could that Chinese national come to Gujarat, and go to sensitive districts which are bordering with Pakistan and do this online app-based gambling, and loot Rs. 1,400 crores from 1,200 people of Gujarat. Don’t forget, it is the same state, where the Home Minister comes from, where the Prime Minister comes from and they keep talking about the Gujarat Model. ऐसे राज्‍य में ये हुआ। चौकीदार साहब बोलते हैं साहब, हमने चीनी ऐप्‍स पर बैन लगा दिया और चीन की झालरों पर बैन लगा दिया, तो यहां तो क्‍या हो रहा है, आपके साम

error: कॉपी नहीं होगा भाई खबर लिखना सिख ले